August 12, 2022
क्या यूक्रेन में रासायनिक हथियार का इस्तेमाल कर सकती है रूसी सेना? जेलेंस्की ने किया ये दावा

[ad_1]

रूस और यूक्रेन के बीच 48वें दिन भी जंग जारी है. रूसी हमले में यूक्रेन में कई शहर तबाह कर दिए गए. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने आशंका जताते हुए कहा है कि रूस यूक्रेन में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल कर सकता है. राष्ट्रपति जेलेंस्की ने पश्चिमी देशों से रूस के खिलाफ और कड़े प्रतिबंध लगाने का आह्वान भी किया है. सोमवार को ऐसी अपुष्ट खबरें थीं कि मारियुपोल के दक्षिणी यूक्रेनी बंदरगाह को घेरने में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया गया था. जेलेंस्की ने इन खबरों को लेकर चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि हम इसे बेहद ही गंभीरता से लेते हैं. हालांकि उन्होंने ये नहीं कहा कि केमिकल वेपन यानी रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल पहले ही किया जा चुका है.

यूक्रेन में रासायनिक हथियार इस्तेमाल कर सकता है रूस- जेलेंस्की

यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा, ‘मैं विश्व के नेताओं को याद दिलाना चाहता हूं कि रूसी सेना द्वारा रासायनिक हथियारों के संभावित उपयोग पर पहले ही चर्चा की जा चुकी है. रूस हमारे रक्षा बलों के खिलाफ अपने आतंक के एक नए चरण की तैयारी में हैं. मारियुपोल की रक्षा कर रहे लोगों के खिलाफ रूसी सैनिक केमिकल वेपन का इस्तेमाल करने पर विचार कर रहे हैं.’ रूसी हमले के खिलाफ अधिक कठोर और तेज प्रतिक्रिया करना जरुरी था. मारियुपोल के मेयर के सहयोगी पेट्रो एंड्रीशचेंको ने अपने टेलीग्राम चैनल पर रासायनिक हमले के बारे में रिपोर्ट की पुष्टि नहीं की. इस बारे में डिटेल्स और स्पष्टीकरण बाद में देने की उम्मीद जताई गई. 

रूसी हमले में तबाह हो चुके हैं कई शहर

उधर, मारियुपोल के मेयर ने दावा किया है कि रूसी हमले में 10,000 से अधिक बच्चों की मौत हुई है. रूसी सैनिकों की ओर से किए जा रहे हमले में कई शहर बर्बाद हो चुके हैं. स्कूल, अस्पताल से लेकर कई इमारतें जमींदोज हो चुकी हैं. जिसमें हजारों लोग मारे गए और लाखों लोग विस्थापित हुए. यूरोपीय संघ ने सोमवार को कहा कि रूस पर अधिक प्रतिबंध एक विकल्प है. रूस के खिलाफ दुनिया के कई देश कई तरह के प्रतिबंध लगा चुके हैं बावजूद इसके यूक्रेन में लगातार हमला जारी है.

ये भी पढ़ें-

Exclusive: यूक्रेन के दोनेत्सक शहर पर कब्जे को लेकर चल रही जंग, हर जगह दिख रहे तबाही के निशान

डॉलर की बढ़ती कीमतों को लेकर श्रीलंकाई पीएम ने जनता के प्रदर्शन को ठहराया जिम्मेदार, प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद और भड़के लोग

 

 

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.