August 12, 2022
क्रिकेटर सकीबुल गनी के घर खुद पहुंचे NRI उद्योगपति राकेश पांडेय, बड़ी डील की घोषणा

[ad_1]

मोतिहारी. बिहार के मोतिहारी का रहने वाले 22 वर्ष के क्रिकेटर सकिबुल गनी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट के पहले ही मैच में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला था. सकिबुल ने इस फॉर्मेट के पहले ही मैच में ट्रिपल सेंचुरी (341 रन) लगाने वाले पहले क्रिकेटर हैं. उन्होंने यह रिकॉर्ड बीते फरवरी में मिजोरम के खिलाफ रणजी ट्रॉफी के मैच में बनाया था. अब वे इतने फेमस हो चुके हैं कि प्रवासी भारतीय उद्योगपति राकेश पांडेय इस हरफनमौला खिलाड़ी सकीबुल गनी के घर पहुंचे और बड़ी डील कर ली.

सकीबुल सहित उनके पूरे परिवार को सम्मानित करने के साथ प्रवासी भारतीय ब्रावो फॉर्मा के चेयरमैन सह ब्रावो फाउंडेशन के मुख्य संरक्षक राकेश पांडेय ने खिलाड़ी और खेल के क्षेत्र में बड़ी घोषणा की है. सकीबुल गनी को देश में लांच होने वाली प्रतिष्ठित कम्पनी ब्रावो फार्मा की दवा का ब्रांड एम्बेसडर बनाने का एलान किया है. रणजी पर्दापण मैच में विश्व रिकार्ड कायम करने वाले पूर्वी चम्पारण के सकीबुल गनी व उनके परिवार से उद्योगपति राकेश पांडेय ने गत 17 अप्रैल को अगरवा स्थित निवास पर मुलाकात की थी.

फास्ट पिच का होगा निर्माण
मुलाकात के दौरान ब्रावो फॉर्मा के चेयरमैन राकेश पांडेय ने घोषणा की कि सकीबुल गनी उनकी दवा कम्पनी ब्राबो फार्मा के ब्रांड एम्बेसडर होंगे. साथ ही राकेश पांडेय ने कहा कि मोतिहारी के खिलाडियों के लिए एक फास्ट पिच का निर्माण कराया जाएगा. नेशनल क्रिकेट एकेडमी (एनसीए) से लौटने के बाद सकीबुल और ब्रावो फॉर्मा में करार की प्रकिया पूरी कर ली जाएगी.

सकीबुल के लिए खास इंतजाम
राकेश पांडेय से मुलाकात के बाद सकीबुल एनसीए कैम्प के लिए बैंगलोर रवाना हो गया. हालांकि इसके पहले बातचीत में ब्रावो फार्मा के चेयरमैन ने सकीबुल के आग्रह पर गांधी मैदान में एक टर्फ विकेट बनाने और एक बॉलिंग मशीन की स्थापना की भी घोषणा की है ताकि सकीबुल को निरन्तर अभ्यास में परेशानी न हो. साथ ही युवा क्रिकेटरों को बॉलिंग मशीन से टर्फ विकेट पर अभ्यास का मौका मिल सके.

युवा क्रिकेटरों पर नजर
वहीं सकीबुल को ब्रांड एंबेसडर बनाने के सवाल पर राकेश पांडेय ने कहा कि हम चाहें तो किसी बड़े सेलिब्रिटी को ब्रांड एंबेसडर बना सकते थे, लेकिन जब जिला व अपने गांव में विश्व रिकार्डधारी युवा हो, तो उसे प्रोमोट करना हमारी पहली प्राथमिकता होनी चाहिए. घोषणा से अभिभूत रणजी खिलाड़ी सकीबुल ने राकेश पांडेय के प्रति कृतज्ञता प्रकट की और कहा कि हमें और चम्पारण के युवा क्रिकेटरों को काफी लाभ होगा.

बड़ा भाई बना सकीबुल का कोच
बता दें कि रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट के लिए चुने गए सकिबुल किसान परिवार से आते हैं. मोतिहारी के चंद्रहिया गांव के रहने वाले सकीबुल के पिता मनान गनी की जन वितरण दुकान थी. चार भाई और तीन बहनों में सबसे छोटे सकीबुल के बड़े भाई फैशल गनी ने ही उसे क्रिकेट की ट्रेनिंग दी है. फैशल गनी भी अंडर 16, 19 के साथ हेमन व बिजी ट्रॉफी में खेल चुके हैं. सकिबुल गनी ने जिला स्कूल मोतिहारी से मैट्रिक परीक्षा 2019 में पास की थी और अब वे इसी स्कूल से इंटर कर रहे हैं.

आपके शहर से (पूर्वी चंपारण)

पूर्वी चंपारण

पूर्वी चंपारण

Tags: Bihar News

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.