August 17, 2022
पुतिन के सहयोगी की पत्नी का आरोप- यूक्रेन में मेरे पति को मारा-पीटा गया

[ad_1]

रूस और यूक्रेन के बीच 52वें दिन भी जंग जारी है. इस बीच यूक्रेन में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सहयोगी को बंधक बना लिया गया है. पुतिन के शीर्ष सहयोगियों में से एक की पत्नी ने शुक्रवार को आरोप लगाते हुए कहा कि हिरासत में पूछताछ के दौरान उसे यूक्रेन की सुरक्षा सेवा ने मारा पीटा है. मॉस्को में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान विक्टर मेदवेदचुक की पत्नी ओक्साना मार्चेंको ने कहा कि यूक्रेन द्वारा इस सप्ताह जारी की गई दो तस्वीरों में से एक में साफ दिखता है कि मेरे पति के साथ मारपीट की गई है.

हालांकि न्यूज एजेंसी रायटर्स ने स्वतंत्र रूप से इसकी पुष्टि नहीं की है और न ही यूक्रेन की सुरक्षा सेवा एसबीयू ने इस बारे में कुछ जानकारी दी है. उधर रूस ने भी टिप्पणी के अनुरोधों का तुरंत जवाब देने से इनकार किया है.

पुतिन के सहयोगी की पत्नी का यूक्रेन सरकार पर आरोप

यूक्रेन की सुरक्षा सेवा ने मंगलवार को कहा था कि उसने मेदवेदचुक को गिरफ्तार किया है, जिसने लंबे समय से रूस के साथ घनिष्ठ संबंधों की वकालत की है और विपक्ष फॉर लाइफ पार्टी का नेता है. ये पार्टी यूक्रेन की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी है. हथकड़ी में उनकी एक तस्वीर यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की के आधिकारिक टेलीग्राम अकाउंट पर जारी की गई थी, और दूसरी एसबीयू द्वारा फेसबुक पर पोस्ट की गई थी. 24 फरवरी को रूस द्वारा यूक्रेन में अपनी सेना को स्थानांतरित करने के तीन दिन बाद, यूक्रेन ने कहा कि मेदवेदचुक नजरबंद से बच गया था. उन्हें मई 2021 में घर में नजरबंद रखा गया था और उन पर राजद्रोह और बाद में आतंकवाद का समर्थन करने का आरोप लगाया गया था.

Khargone Violence: किसी का जल गया रोजी-रोटी का जरिया, किसी का तबाह हुआ आशियाना, खरगोन हिंसा के बाद कैसे हैं हालात

जेलेंस्की से मेदवेदचुक की रिहाई की मांग

मार्चेंको का आरोप है कि मेदवेदचुक रूस समर्थक विपक्षी पार्टी के नेता हैं, इसलिए उन्हें सताया जा रहा है. मार्चेंको ने शुक्रवार को अपने पति को राजनीतिक बंदी बताते हुए कहा कि उन्हें बंधक बनाने के दौरान मारा पीटा गया. हालांकि इसके लिए वह कोई सबूत नहीं दे सकीं. उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की से अपील की है कि मेदवेदचुक को परेशान किया जान बंद कर उन्हें तुरंत रिहा किया जाए.

मार्चेंको ने कहा कि वह जानना चाहती है कि उसका पति कहां है, ताकि उसे दुर्व्यवहार से बचाया जा सके और उसे चिकित्सा देखभाल और उसके वकील तक पहुंच प्रदान की जा सके. इससे पहले यूक्रेन की सुरक्षा सेवा एसबीयू के प्रमुख ने बुधवार को कहा था कि मेदवेदचुक ने गुप्त रूप से मोल्दोवा के ट्रांसडिनेस्ट्रिया क्षेत्र में घुसकर यूक्रेन से भागने की योजना बनाई थी, लेकिन उसकी योजना को विफल कर दिया गया था.

ये भी पढ़ें- Punjab: भगवंत मान सरकार का बड़ा तोहफा, 1 जुलाई से सभी घरों में मिलेगी 300 यूनिट बिजली फ्री

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.