August 12, 2022
ब्रिटेन के PM बोरिस जॉनसन के आगामी भारत दौरे के क्या हैं मायने? किन मुद्दों पर चर्चा की संभावना

[ad_1]

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन इस हफ्ते भारत के दौरे पर आ रहे हैं. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनने के बाद बोरिस जॉनसन का पहला भारत दौरा है. वो 21 अप्रैल को दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचेंगे. बोरिस जॉनस के दौरे की शुरुआत गुजरात से होगी. डाउनिंग स्ट्रीट ने एक बयान में जानकारी देते हुए बताया है कि पीएम बोरिस जॉनसन ये यात्रा 21 अप्रैल को अहमदाबाद में अग्रणी कारोबारी ग्रुप के साथ मुलाकात से शुरू होगी. इस दौरान ब्रिटेन और भारत के बीच व्यापार और लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने को लेकर चर्चा होगी. ब्रिटिश पीएम 22 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे.

गुजरात से शुरू होगा बोरिस जॉनसन का भारत दौरा

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने एक ट्वीट भी किया है जिसमें उन्होंने कहा कि उनकी आगामी भारत यात्रा भारत और ब्रिटेन के लोगों के लिए वास्तव में महत्वपूर्ण मुद्दों पर केंद्रित होगी. वो दीर्घकालिक साझेदारी को गहरा करने के लिए भारत पहुंच रहे हैं. रूस और यूक्रेन में जंग के बीच पीएम बोरिस जॉनसन का भारत दौरा काफी अहम माना जा रहा है. पीएम जॉनसन ने ट्वीट किया, “इस सप्ताह मैं अपने देशों के बीच लंबी अवधि की साझेदारी को गहरा करने के लिए भारत की यात्रा करूंगा. चूंकि हम निरंकुश देशों से अपनी शांति और समृद्धि के लिए खतरों का सामना कर रहे हैं, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि लोकतंत्र वाले देश दोस्त की तरह एक साथ रहें.

बोरिस जॉनसन के भारत दौरे के मायने और बातचीत का एजेंडा

पीएम बोरिस जॉनसन ने यूक्रेन में जंग की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि आज भारत एक प्रमुख आर्थिक शक्ति है और दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है. इस अनिश्चित समय में ब्रिटेन के लिए एक बेहद ही मूल्यवान रणनीतिक भागीदार है. रोजगार के अवसर बढ़ाने और आर्थिक विकास के साथ-साथ ऊर्जा सुरक्षा और डिफेंस को लेकर बातचीत की संभावना है. रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध को लेकर भी दोनों देशों के बीच बातचीत की पूरी संभावना है. गौरतलब है कि पिछले 50 से अधिक दिनों से रूस और यूक्रेन के बीच जंग जारी है. यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद पश्चिमी देशों ने रूस पर कई प्रतिबंध लगाए हैं. साथ ही वो भारत पर इस बात का दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं कि वो रूसी हथियारों पर अपनी निर्भरता को कम करें और यूक्रेन हमले की कड़ी निंदा करे.

ये भी पढ़ें:

संयुक्त राष्ट्र का दावा, रूस यूक्रेन युद्ध के कारण हर पांचवा इंसान हो सकता है गरीबी और भूखमरी का शिकार

Russia Ukraine War: यूक्रेन में रूस के एक और जनरल की मौत, अब तक 8 जनरल और 34 कर्नल गंवा चुके हैं जान



[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.