August 9, 2022
भारतीय मूल की रचना सचदेव को बाइडेन ने माली में अपना राजदूत नामित किया

[ad_1]

<p>अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भारतीय मूल की अमेरिकी राजनयिक रचना सचदेव कोरहोनेन को माली में अपना राजदूत नामित किया है. यह जानकारी व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को दी. यह बीते एक महीने में अमेरिका में किसी भारतीय-अमेरिकी को मिला इस तरह का तीसरा नामांकन है. कोरहोनेन ने अमेरिकी विदेश सेवा से अपने करियर की शुरुआत की थी, वह मौजूदा समय में अमेरिकी विदेश विभाग के निकट पूर्वी मामलों के संयुक्त कार्यकारी ब्यूरो और दक्षिण व मध्य एशियाई ब्यूरो के उप सहायक सचिव व कार्यकारी निदेशक पद पर कार्यरत हैं.</p>
<p>व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी कर बताया कि कोरहोनेन इससे पहले सऊदी अरब के धरान स्थित अमेरिकी वाणिज्य दूतावास में महावाणिज्य दूत और प्रधान अधिकारी पद पर सेवाएं दे चुकी हैं. उन्होंने कोलंबो स्थित अमेरिकी दूतावास के प्रबंधन प्रकोष्ठ का नेतृत्व संभाला था और वाशिंगटन में प्रबंधन के अंडर सेक्रेटरी के विशेष सहायक के तौर भी पर कार्य किया है.</p>
<p>इससे पहले बाइडेन ने पिछले महीने घोषणा की थी कि उनकी इच्छा है कि भारतीय-अमेरिकी राजनयिक पुनीत तलवार को मोरक्को में और भारतीय मूल की राजनीतिक कार्यकर्ता शेफाली राजदान दुग्गल को नीदरलैंड में अपना राजदूत नियुक्त करने की है.</p>
<p><strong>ये भी पढ़ें:</strong></p>
<p><strong><a title="By-Polls Results: आसनसोल से शत्रुघ्न, बालीगंज में बाबुल सुप्रियो ने मारी बाजी, ममता ने यूं दी बधाई" href="https://www.abplive.com/news/india/by-polls-results-shatrughan-sinha-won-asansol-seat-and-babul-supriyo-won-ballygunge-tmc-chief-mamata-banerjee-thanked-the-voters-2103585" target="">By-Polls Results: आसनसोल से शत्रुघ्न, बालीगंज में बाबुल सुप्रियो ने मारी बाजी, ममता ने यूं दी बधाई</a></strong></p>
<p><strong><a title="दिल्ली HC में वक्फ एक्ट को चुनौती, धर्मार्थ ट्रस्ट-धार्मिक संस्थाओं के लिए यूनिफॉर्म लॉ बनाने की मांग" href="https://www.abplive.com/news/india/delhi-high-court-pil-to-challenge-constitutional-validity-of-waqf-act-1995-2103577" target="">दिल्ली HC में वक्फ एक्ट को चुनौती, धर्मार्थ ट्रस्ट-धार्मिक संस्थाओं के लिए यूनिफॉर्म लॉ बनाने की मांग</a></strong></p>
<p>&nbsp;</p>

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.