August 12, 2022
मारियुपोल में तबाही, शहर के अस्पतालों में दो जनरेटर पहुंचाने के लिए संघर्ष कर रहा है डब्ल्यूएचओ

[ad_1]

Russia-Ukraine War: डब्ल्यूएचओ ने मंगलवार को कहा कि वह यूक्रेन के बंदरगाह शहर मारियुपोल के अस्पतालों में दो जनरेटर पहुंचाने के लिए संघर्ष कर रहा है, जिससे उसकी स्वास्थ्य प्रणाली सबसे खराब हो गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि अगर कोई रास्ता खुलता है तो वह डिलीवरी को गति देने के लिए फ्रंटलाइन के करीब आपूर्ति की स्थिति निर्धारित करने की कोशिश कर रहा है.

न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक  डब्ल्यूएचओ पश्चिमी शहर ल्वीव के एक बेस से यूक्रेन भर के अस्पतालों में 15 जनरेटर भेजना चाहता है. इनमें से दो मंगलवार को पूर्वी शहर खारकीव की ओर जाने वाले थे, जबकि अन्य तीन पूर्व में लुहान्स्क और डोनेट्स्क क्षेत्रों के लिए हैं,  जिनमें भारी लड़ाई चल रही है जबकि दो और मारियुपोल के लिए हैं. डब्ल्यूएचओ यूरोप के प्रवक्ता भानु भटनागर ने यह जानकारी दी.

भटनागर ने कहा, “हम जनरेटर को उनके अंतिम गंतव्य तक तभी पहुंचा पाएंगे जब हम अपने कर्मियों और उनके द्वारा ले जाए जा रहे कीमती माल की सुरक्षा सुनिश्चित कर सकें.” उन्होंने कहा, “जनरेटर रेफरल अस्पतालों की चिकित्सा और शल्य चिकित्सा इकाइयों की न्यूनतम ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में मदद करेंगे, जहां बिजली की आपूर्ति सीमित या बिल्कुल नहीं है”. भटनागर ने कहा, “इस समय हमारे पास मारियुपोल तक पहुंच नहीं है, लेकिन हम तैयार रहेंगे ताकि जैसे ही हमें पहुंच मिल सके,  हम आपूर्ति कर सकें.” 

24 फरवरी को रूसी हमले के बाद से मारियुपोल यूक्रेन के उग्र प्रतिरोध का प्रतीक बन गया है. रूस ने मंगलवार को यूक्रेनी बलों से शहर में “तुरंत” हथियार डालने का आह्वान किया.

युद्ध के बाद से डब्ल्यूएचओ ने पहुंचाई इतनी मदद 
डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उसने अब तक 218 मीट्रिक टन आपातकालीन और चिकित्सा आपूर्ति और उपकरण यूक्रेन को वितरित किए हैं, जिनमें से 142 मीट्रिक टन अपने इच्छित गंतव्य तक पहुंच गए, ज्यादातर उत्तर और पूर्व में. रूसी हमले के बाद से, WHO ने यूक्रेन में स्वास्थ्य सेवाओं पर 147 हमलों की पुष्टि की है, जिसमें कम से कम 73 लोग मारे गए हैं और 52 घायल हुए हैं.

मरियुपोल में भोजन, पानी की कमी 
वहीं संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम ने यूक्रेन के घिरे क्षेत्रों में फंसे लोगों के लिए अबाध मानवीय पहुंच के लिए अनुरोध किया. अकेले मारियुपोल में, 100,000 से अधिक लोग फंसे हैं और वहां भोजन, पानी और अन्य आवश्यक आपूर्ति की सख्त जरूरत है. यूक्रेन में डब्ल्यूएफपी के आपातकालीन समन्वयक जैकब केर्न ने यह जानकारी दी.

जैकब केर्न ने कहा, “ऐसी परिस्थितियों में, कोई भी बीमारी जिसका आमतौर पर दवा से इलाज किया जा सकता है, वह जीवन के लिए खतरा बन जाती है.” WFP का अनुमान है कि यूक्रेन में लगभग 60 लाख लोगों को भोजन और नकद सहायता की आवश्यकता होगी.

यह भी पढ़ें: 

Russia-Ukraine War: रूसी हमले के बाद से करीब 50 लाख लोगों ने छोड़ा यूक्रेन, यूएन ने कहा- हालात और खराब हो सकते हैं

Russia Ukraine War: रूस का बड़ा आरोप- कीव को उकसाकर सैन्य अभियान को लंबा खींचना चाहते हैं अमेरिका और पश्चिमी देश

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.