August 17, 2022
यूक्रेन की रूस को चेतावनी! कहा- 'मारियुपोल पर कब्जे से बंद हो सकती है शांति वार्ता'

[ad_1]

यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने मारियुपोल में हालात गंभीर और हृदय विदारक बताए. उन्होंने कहा कि वहां रूस के जारी हमले एक ‘‘लाल रेखा’’ साबित हो सकते हैं, जिससे बातचीत के जरिए शांति पर पहुंचने के सभी प्रयास खत्म हो जाते हैं. कुलेबा ने सीबीएस के ‘फेस द नेशन’ कार्यक्रम में बताया कि बंदरगाह शहर में मौजूद यूक्रेन की सेना के बाकी के कर्मियों और नागरिकों को असल में रूसी सेना ने घेर लिया है.

यूक्रेनियों का संघर्ष जारी है: दिमित्रो कुलेबा
दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि यूक्रेनियों का संघर्ष जारी है लेकिन भारी विध्वंस के कारण अब शहर का कोई अस्तित्व नहीं बचा है. उन्होंने कहा कि उनका देश शांति के लिए किसी राजनीतिक समाधान पर पहुंचने की उम्मीद के साथ हाल के हफ्तों में रूस के साथ ‘‘विशेषज्ञ स्तर’’ की वार्ता करता रहा है. 

हालांकि, मारियुपोल की महत्ता बताते हुए उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की की उस बात को दोहराया कि यूक्रेनी बलों का खात्मा शांति प्रयासों को रोकने वाली ‘‘लाल रेखा’’ हो सकती है. वहीं, यूक्रेन के प्रधानमंत्री ने कहा कि मारियुपोल पर रूस का कब्जा नहीं हुआ है और वहां यूक्रेनी सेना ‘‘अंत तक’’ लड़ेगी.

शहर पर पूरी तरह रूस का कब्जा नहीं: डेनिस श्मीहाल
प्रधानमंत्री डेनिस श्मीहाल ने रविवार को एक अमेरिकी टेलीविजन पर पूर्वी शहर में बिना भोजन, पानी और बिजली के साथ फंसे 1,00,000 यूक्रेनियों की मदद की अपील की. उन्होंने कहा कि मारियुपोल के कुछ क्षेत्र अब भी यूक्रेन के कब्जे में हैं और रूस ने शहर पर पूरी तरह कब्जा नहीं जमाया है.

मारियुपोल में 2500 यूक्रेनी सैनिक कर रहे हैं युद्ध: रूस
हालांकि, रूसी सेना ने रविवार को एक विशाल इस्पात संयंत्र को नष्ट कर दिया, जो दक्षिणी यूक्रेन के शहर मारियुपोल में प्रतिरोध का आखिरी स्थान था. रूसी सेना ने अनुमान लगाया कि लगभग 2,500 यूक्रेनी सैनिक एक इस्पात संयंत्र में भूमिगत मार्ग में हैं और वे युद्ध कर रहे हैं.

रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल इगोर कोनाशेनकोव ने कहा कि लगभग 2,500 यूक्रेनी सैनिक अजोवस्ताल में है. इस दावे को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया जा सका है. वहीं, यूक्रेनी अधिकारियों ने भी इस संबंध में किसी संख्या का जिक्र नहीं किया है.

ये भी पढ़ें: आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं भारत के पड़ोसी देश, जानिए पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल और चीन का ताजा हाल

ये भी पढ़ें: Russia Ukraine War: जंग में रूसी मेजर जनरल व्लादिमीर फ्रोलोव की हुई मौत, जानें रूस ने क्या कहा?

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.