August 9, 2022
IPL 2022: कुलदीप सेन का एक्शन सुधारने में कोच ने लगा दिए 4 साल, पिता से मार तक खानी पड़ी

[ad_1]

नई दिल्ली. कुलदीप सेन (kuldeep Sen) ने अपने आईपीएल के डेब्यू मैच में शानदार प्रदर्शन किया. आईपीएल 2022 में 25 साल का यह तेज गेंदबाज राजस्थान रॉयल्स (Rajastha Royals) टीम का हिस्सा है. उन्होंने लखनऊ सुपर जॉयंट्स के खिलाफ अंतिम ओवर में शानदार गेंदबाजी की और विराेधी टीम को 15 रन नहीं बनाने दिए. राजस्थान ने यह मैच 3 रन से जीता था. कुलदीप ने 4 ओवर में 35 रन देकर एक विकेट लिया. उनकी गेंदबाजी को मुख्य कोच कुमार संगकारा ने भी जमकर सराहा. लेकिन मप्र के रीवा के रहने वाले कुलदीप को इस लेवल तक आने के लिए लंबा संघर्ष करना पड़ा. आइए आपको उनकी जिंदगी के कुछ अनछुए पहलुओं के बारे में बताते हैं.

कुलदीप सेन के पिता राम पाल सैलून की दुकान चलाते हैं और महीने में 8 हजार तक की कमाई कर लेते हैं. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज मेरे पास समय नहीं है. अब बहुत सारे ग्राहक हमारे पास आ रहे हैं. मैं पिछले 30 सालों से यह काम कर रहा हूं. उसने मुझे गौरवान्वित करने का मौका दिया, लेकिन मैंने उसका समर्थन नहीं किया. उन्होंने बताया कि जब कुलदीप स्कूल में था, तब मैंने उसे क्रिकेट खेलने के लिए मारा तक था, लेकिन उसने कभी अपने सपने को नहीं छोड़ा.

पहले ही मैच में किया कमाल

मैच के बाद राजस्थान रॉयल्स के कोच कुमार संगकारा ने कहा कि उसने अंतिम ओवर में जिस तरह से गेंदबाजी की, उससे सभी प्रभावित हैं. सबसे दबाव में सबसे मुश्किल ओवर डाला. कुलदीप सेन ने अंतिम ओवर में ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज मार्कस स्टाेइनिस के सामने 3 डॉल बॉल डाली थी. लेकिन उन्हें यहां तक पहुंचाने में मप्र के अंडर-19 के पूर्व क्रिकेटर और कोच एरिल एनथोनी का रोल अहम रहा है. राम पाल के 5 बचे हैं. उन्होंने बताया कि एनथोनी ने ही उसे तैयार करने में बड़ी भूमिका निभाई.

लिली ने कहा- करियर नहीं होना चाहिए खराब

एरिल एनथोनी ने कहा कि एमआरएफ पेस फांउडेशन में एक बार पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज डेनिस लिली ने कहा था कि कोई भी टैलेंट नॉन क्रिकेटिंग समस्या के कारण खराब नहीं होना चाहिए और इस चीज को लेकर मैंने गांठ बांध ली थी. उन्होंने बताया कि उसे बाउंसर फेंकना पसंद है. लेकिन वह शुरुआत में एक ओवर में एक या दो बार चक करता था. इस कारण मैंने उसे 4 साल तक किसी भी ट्रायल में नहीं भेजा. यहां तक की डिस्ट्रिक्ल लेवल के ट्रायल में भी नहीं. इसे सही करने में मुझे 4 साल का समय लगा.

पहले ही सीजन में झटके 25 विकेट

एक्शन सही होने के बाद कुलदीप सेन 2018-19 में पहली बार रणजी ट्रॉफी में उतरे. अपने पहले ही फर्स्ट क्लास सीजन के 8 मैच में उन्होंने 25 विकेट लिए. उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीने में उसे आईपीएल में बहुत कुछ सीखने को मिलेगा. इस दौरान वह देश और दुनिया के अच्छे खिलाड़ियों के साथ खेलेगा. उन्होंने बताया कि जब वह रणजी ट्रॉफी के पहले सीजन में खेलने के बाद लौटा, तो उसने एक्शन में बदलाव किया था. जब मैंने उससे पूछा किया ऐसा क्यों किया, तो उसने कहा कि सर बाउंस अधिक मिलता है.

IPL 2022: क्या फ्यूचर प्लान ने बिगाड़ दिया मुंबई इंडियंस का खेल, एक गलत दांव से पलट गई पूरी बाजी-

एक चोट से करियर हो जाएगा खराब

एनथोनी ने कुलदीप सेन से कहा कि अगर वह अपने पुराने एक्शन में वापस नहीं जाता तो एक चोट उसका पूरा करियर खत्म हो जाएगा. उन्होंने बताया कि मैंने एमआरएफ पेस फाउंडेशन की ट्रेनिंग के दौरान जो कुछ भी सीखा, मैंने उसे कुलदीप को सीखाने की कोशिश की. कुलदीप के करियर की बात करें ताे उन्होंने 16 फर्स्ट क्लास मैच में 44 और 19 टी20 मैच में 13 विकेट लिए हैं.

Tags: IPL, IPL 2022, Lucknow Super Giants, Rajasthan Royals

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.