August 17, 2022
IPL 2022 'धूप हो, छांव हो, मेहनत कभी नहीं छोड़ी', उमरान मलिक की सफलता की कहानी, उनके पिता की जुबानी

[ad_1]

नई दिल्ली. क्रिकेट में तेज गेंदबाज हमेशा चर्चा का विषय रहे हैं. इन दिनों भारत के उभरते फास्ट बॉलर उमरान मलिक के बारे में हर कोई बात कर रहा है. इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें सत्र में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से खेल रहे उमरान ने कई बार 150 किमी से ज्यादा की स्पीड से बॉलिंग की है. यही वजह है कि उनकी गेंदों के आगे बड़े-बड़े बल्लेबाज खुलकर खेलने में नाकाम रहे हैं. इसमें कोई शक नहीं कि वह मौजूदा समय में भारत के सबसे तेज गेंदबाज हैं. उमरान मलिक के पिता अब्दुल राशिद मलिक ने न्यूज18 क्रिकेट नेक्स्ट से बात करते हुए अपने बेटे के तेज गेंदबाज बनने के बारे में खुद बताया है.

क्रिकेट इतिहास पर नजर डाली जाए तो दुनिया भर में एक से बढ़कर एक तेज गेंदबाज हुए हैं. 60 के दशक में फ्रेड ट्रूमैन और वेस हॉल कातिलाना बॉलिंग करने के लिए मशहूर थे. वहीं 70 और 80 के दशक में माइकल होल्डिंग, एंडी रॉबर्ट्स, जोएल गार्नर और कॉलिन क्रॉफ्ट का दबदबा कायम था. जेफ थॉम्पसन और डेनिस लिली भी अपनी तेजी के चलते खूब मकबूल हुए. 80 के दशक में खूंखार गेंदबाज मैल्कम मार्शल का अलग ही रुतबा था. वहीं 90 के दशक में वसीम अकरम, वकार यूनुस, एलन डोनाल्ड, कर्टली एम्ब्रोस रफ्तार के सौदागर बने.

भारत में तेज गेंदबाजों का उदय

2000 के दशक में शोएब अख्तर, ग्लेन मैक्ग्रा और ब्रेट ली तेज गेंदबाज के तौर पर मशहूर हुए. शोएब के नाम आज भी सबसे तेज गेंद फेंकने का रिकॉर्ड कायम है. मौजूदा समय में अगर देखा जाए तो जसप्रीत बुमराह, कागिसो रबाडा और पैट कमिंस अपनी तेज गेंदों के लिए जाने जाते हैं. वैसे भारत को लंबे समय तक गुणवत्ता वाले स्पिनर्स को जन्म देने के लिए जाना गया. लेकिन मौजूदा समय में यह परिपाटी बदली है. अब यहां पर भी कई तेज गेंदबाजों का उदय हुआ है जो तूफानी गति बॉलिंग करने का दमखम रखते हैं.

बगैर रन दिए 20वें में झटके तीन विकेट

आईपीएल 2022 में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम शुरुआत के 2 मुकाबले हार गई. लेकिन इस टीम में एक ऐसा शख्स था उसने जब कभी मैच में गेंदबाजी की तो वह सबसे तेज गेंद फेंकने से नहीं चूका. वह कोई और नहीं बल्कि उमरान मलिक हैं. रविवार को पंजाब किंग्स के खिलाफ खेले गए मैच में उन्होंने इतिहास रच दिया. इस मुकाबले में उमरान ने 20वें ओवर में गेंदबाजी करते हुए बिना कोई रन दिए 3 विकेट झटके. आईपीएल के इतिहास में यह सिर्फ तीसरी बार हुआ है जब किसी गेंदबाज ने 20वें ओवर में बॉलिंग करते हुए बिना रन दिए तीन विकेट लिए हों.

धूप हो, छांव हो, मेहनत कभी नहीं छोड़ी

न्यूज18 क्रिकेटनेक्स्ट से बात करते हुए उमरान मलिक के पिता अब्दुल राशिद मलिक ने बेटे के तेज गेंदबाज बनने के बारे में बताया. उन्होंने कहा, यह उसके कठिन परिश्रम का परिणाम था कि उसे आईपीएल में खेलने का मौका मिला. उमरान के पिता कहते हैं वह न दिन को सोता था. न रात को सोता था. धूप हो छांव हो इसने मेहनत कभी नहीं छोड़ी. उमरान मलिक को सनराइजर्स हैदराबाद ने आईपीएल नीलामी से पहले रिटेन किया था. उनके पिता का कहना है जब उमरान को रिटेन किया गया तो यह हम सबके लिए बड़े गर्व की बात थी.

यह भी पढ़ें

IPL 2022 Analysis: गुजरात को हराना आसान नहीं, हैदराबाद की वापसी, सीएसके और मुंबई प्लेऑफ से हुए दूर

IPL 2022: राशिद और मिलर ने गुजरात को दिलाई रोमांचक जीत, सीएसके की एक और हार

IPL में उमरान मलिक का प्रदर्शन

आईपीएल 2022 में उमरान मलिक की गेंदें कहर बरपा रही हैं. वह अपनी टीम के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं. उमरान ने 15वें सीजन में अब तक 6 मैच खेले हैं जिनमें 9 विकेट लिए. इस दौरान 28 देकर 4 विकेट आउट करना उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा. आने वाले समय में अगर उमरान मलिक का प्रदर्शन ऐसे ही जारी  रहा है तो निश्चित तौर पर सनराइजर्स हैदराबाद की टीम प्लेऑफ में जगह बनाने में सफल होगी.

Tags: IPL, IPL 2022, Sunrisers Hyderabad, Umran Malik

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.