August 8, 2022
IPL 2022 Explainer: दीपक चाहर आईपीएल से बाहर, फिर भी उन्हें मिलेंगे पूरे 14 करोड़, जानिए क्यों?

[ad_1]

नई दिल्ली. दीपक चाहर (Deepak Chahar) आईपीएल 2022 से बाहर हो चुके हैं. चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) का यह तेज गेंदबाज अभी चोटिल है और उनके इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने टी20 वर्ल्ड कप में भी खेलने की संभावना कम ही है. सीएसके ने चाहर को 14 करोड़ रुपए की भारी-भरकम राशि में खरीदा था. टीम ने ऑक्शन में पहली बार किसी खिलाड़ी पर इतनी बड़ी राशि खर्च की थी. वे अभी बेंगलुरु स्थित एनसीए में रिहैब कर रहे हैं. डिफेंडिंग चैंपियन सीएसके को उनके हटने के कारण बड़ा झटका लगा और मैनेजमेंट भी उनकी कमी को मान रही है. टीम शुरुआती चारों मैच हार गई थी. अब जबकि यह भारतीय गेंदबाज टी20 लीग से बाहर हो चुका है, तो सबसे बड़ा सवाल यही है कि क्या उन्हें ऑक्शन के 14 करोड़ रुपए मिलेंगे या नहीं. आइए आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं:

  • दीपक चाहर को किस टीम ने खरीदा था?

    चेन्नई सुपरकिंग्स ने इस तेज गेंदबाज को 14 करोड़ रुपए में ऑक्शन में खरीदा था. वे मौजूदा ऑक्शन में बिकने वाले दूसरे सबसे महंगे खिलाड़ी रहे थे. आईपीएल 2021 में भी वे सीएसके का हिस्सा थे.

  • आईपीएल में उन पर इतनी बड़ी बोली क्यों लगी?

  • वे टी20 के अच्छे गेंदबाजों में से एक हैं. वे नई गेंद से विकेट लेने में माहिर है. खास तौर पर शुरुआती 6 ओवर के पावरप्ले में. टी20 में उनका स्ट्राइक रेट 19 का है. यानी वे हर 19वीं गेंद पर विकेट लेते हैं.

  • क्या वे बीसीसीआई के कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में शामिल हैं?

  • हां, दीपक चाहर आईपीएल के सालाना कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में शामिल हैं. उन्हें ग्रेंड-सी में रखा गया है. इसके अनुसार, उन्हें हर साल एक करोड़ रुपए मिलते हैं.

  • क्या उन्हें ऑक्शन के 14 करोड़ रुपए मिलेंगे?

  • हां. चोट के कारण टी20 लीग के एक मैच में नहीं खेलने के कारण भी उन्हें पूरे 14 करोड़ रुपए मिलेंगे. बीसीसीआई ने कॉन्ट्रैक्ट पाने वाले खिलाड़ियों के लिए 2011 में इंश्याेरेंस पॉलिसी लागू की थी. इसका लाभ उन्हें मिलेगा.

  • क्या अब फ्रेंचाइजी सीएसके उन्हें पैसे देगी?

  • नहीं. सीजन शुरू होने से पहले ही वे चोटिल थे. ऐसे में फ्रेंचाइजी को उन्हें एक भी पैसा नहीं देना पड़ेगा. पूरा पैसा बोर्ड देगा. यानी सीएसके के इस तरह से पूरे 14 करोड़ रुपए बच गए.

  • बीच सीजन में चाहर बाहर हाेते तो क्या होता?

  • दीपक चाहर यदि बीच सीजन में चोट के कारण बाहर होते तो नियम के अनुसार आधा पैसा बोर्ड को और आधा पैसा फ्रेंचाइजी को देना पड़ता. यानी दोनों से चाहर को 7-7 करोड़ रुपए मिलते.

  • नॉन-कॉन्ट्रैक्टेड खिलाड़ियों के लिए क्या है नियम?

  • इन खिलाड़ियों के लिए कोई नियम नहीं है. ऐसे में ये खिलाड़ी यदि सीजन शुरू होने से पहले चोटिल हो जाते तो बोर्ड और फ्रेंचाइजी की ओर से उन्हें कुछ भी नहीं मिलता.

  • पहले किन खिलाड़ियाें को मिला है इसका फायदा?

  • पिछले सीजन में केकेआर से खेल रहे श्रेयस अय्यर भी चोट के कारण लीग का पहला चरण नहीं खेल सके थे. इसके बाद भी उन्हें पूरी सैलरी मिली थी. इससे पहले आशीष नेहरा और शिखर धवन के चोटिल होने पर उन्हें बोर्ड की ओर से पूरा पैसा दिया गया है.

    ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

    [ad_2]

    Source link

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.