August 13, 2022
Hindustan Hindi News

[ad_1]

 

शनि एक न्याय प्रिय ग्रह माने जाते हैं। ऐसा कहा जाता है कि आपके कर्मों का फल इसी जन्म में शनि आपको दे देते हैं। एक तरह से आपने जो किया है उसका फल चाहे वो खराब हो या अच्छा शनि आपको देते हैं। कई ऐसी बाते भी हैं जिनसे शनि प्रसन्न होते हैं। इसलिए शनि की ढ़ैया या फिर साढ़े साती में शनि को प्रसन्न करने के लिए गरीबों की मदद करनी चाहिए. अपने से नीचे किसी भी व्यक्ति को परेशान नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से शनि की ढ़ैया और साढ़ेसाती का प्रबाव कम होता है। शनि का राशि परिवर्तन हर ढ़ाई साल में होता है। इसका अर्थ है कि शनि हर ढ़ाई साल तक एक ही राशि में रहते हैं। शनि की दो दशाएं होती हैं। एक ढ़ैया और एक साढ़े साती। दोनों ही दशाएं जिन राशि वालों पर होती हैं, उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस महीने के आखिर में शनि मकर राशि को छोड़कर कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। शनि का यह राशि परिवर्तन 30 साल इस राशि में हो रहा है, जो कई तरीके से भी प्रभावित करेगा। शनि की ढ़ैया और साढ़ेसाती किसी राशि से हटेगी तो किसी राशि पर चलेगी।

30 महीने बाद शनि करने जा रहे कुंभ राशि में गोचर, इन दो राशियों पर शुरू होगी शनि ढैय्या

संबंधित खबरें

आइए जानते हैं किन राशियों से हटेगी ढैया Shani gochar 2022 effect shani dhaya

शनि के इस गोचर से मिथुन और तुला ऱाशि वाले जो ढ़ाई साल से परेशानी झेल रहे थे, उन्हें राहत मिलेगी। लेकिन ये थोड़े कम समय के लिए होगा। 12 जुलाई तो शनि फिर से मकर राशि में आ जाएंगे और दो साल तक यही रहेंगे। इसलिए मिथुन और तुला ऱाशि फिर ढैय्या में रहेंगी। इसके बाद 17 जनवरी 2023 मिथुन और तुला ऱाशि वालों को आराम मिलेगा। 


Shani gochar 2022 effect sade sati

शनि के इस राशि परिवर्तन से मीनराशि वालों पर शनि के साढ़े साती से सामना करना पड़ेगा। इसके अलावा धुन राशि वालें साढ़े सात साल से परेशानी झेल रहे थे, उन्हें इससे राहत मिलेगी। 

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.